रक्षा असैनिक कर्मचारी आपूर्तिकर्ता निदेशालयमेरा खाता

पी ओ एल अनुभाग

प्रभारी अधिकारीः     श्री एस एम झा, वरिष्ठ लेखा अधिकारी
इंटरकोम सं0.         116        ई मेल आइ डीः  pol.pcdand@nic.in

यह अनुभाग निम्नलिखित कार्य करता हैः-

 

  1. आपूर्ति एवं परिवहन महानिदेशक से प्राप्त संविदाओं की संवीक्षा करना।
  2. संगत संविदाओं के अनुसार तेल पी एस यूस तथा अन्य ठेकेदारों से प्राप्त बिलों का समय से भुगतान करना।.
  3. प्रेषण अनुदेश(डी आइ)रजिस्टर का रख – रखाव करना तथा डी जी एस टी द्वारा जारी प्रेषण अनुदेशों में विशिष्ट प्रेषिति हेतु प्राधिकृत ईंधन की मात्रा की मानिटरिंग करना।
  4. भारतीय सेना के लिये आबंटित बजट के अन्दर पेट्रोल, तेल तथा लुबरिकेन्ट पर किये गये कुल समग्र व्यय की मानिटरिंग करना।
  5. संबंधित एल ए ओ के लिये वाउचरों का अनुसूचियन।

 

बार – बार पूछे जाने वाले प्रश्न (एफ ए क्यूज) -

प्रश्न.  एक बिल की उम्र क्या होती है?

उत्तर.  एक बिल की उम्र बिल के जारी होने/जन्म होने की तारीख से तीन साल तक होती है, बशर्ते वह पहले प्रस्तुत न किया गया हो।

प्रश्न.  यदि आडिट की खंड में कोई अंतर आता है, तो क्या कार्रवाई होगी?

उत्तर. यह कार्यालय मात्र भुगतान प्राधिकारी है जोकि आडिट की खंडों से बंधा हुआ है। इस कार्यालय को आडिट की खंडों में परिवर्तन करने का कोई अधिकार नही है, यदि आडिट खंड संबंधी किसी परिवर्तन की जरुरत पड़ती है तो, फर्म को इसके लिये डी जी एस एंड टी (अर्थात संविदा समापन प्राधिकारी) के पास जाना चाहिए।

प्रश्न.     बिल के दावे से संबंधित मूल दस्तावेज गुम होने की सि्थति में क्या कार्रवाई की जाती है?

उत्तर. 
 

  • बीजक के मामले में इसकी एक प्रति रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, नई दिल्ली के पक्ष में नोटरी द्वारा साक्ष्यांकित क्षतिपूर्ति बंध – पत्र सहित  इस अनुभाग को प्रस्तुत की जाए जोकि प्रेषिति द्वारा विधिवत स्याही में प्राप्त की गयी हो।   
  • निरीक्षण नोट के मामले में फर्म को गैर भुगतान प्रमाण – पत्र के लिये इस कार्यालय में आवेदन निरीक्षण  नोट के पूर्ण ब्यौरे, अर्थात निरीक्षण नोट सं0, तारीख सहित , आपूर्ति की मात्रा तथा प्रेषिति के पूरे नाम के साथ दिया जाए। गैर प्रमाण – पत्र की प्राप्ति के बाद फर्म को प्रेषिति अधिकारी द्वारा विधिवत रुप से हस्ताक्षरित निरीक्षण नोट की दो प्रतियां जारी करने के लिये संबंधित एस क्यू ए ई के पास जाना चाहिए जैसा कि स्टोर की स्वीकार्यता है। इसके पश्चात ,बिल निरीक्षण नोट की स्याही हस्ताक्षरित द्वितीय प्रति पी सी डी ए , नई दिल्ली के पक्ष में क्षतिपूर्ति बंध – पत्र सहित देनी चाहिए।

 

प्र.   डी पी एम में अनुबंधित किसी खंड के साथ विशेष निविदा जांच के खंड में विवाद के मामले में क्या कार्रवाई की जाती है?

उत्तर. यदि ऐसी परिस्थति उत्पन्न होती है, तो मामले को निर्णय तथा संविदा में संशोधन,.जो भी अपेक्षित हो, के लिये डी जी एस एंड टी को प्रेषित किया जाएगा।